कोरोनाः मुंबई पुलिस के निशाने पर अफवाह फैलाने वाले, 113 मामले दर्ज

महाराष्ट्र साइबर विभाग ने लॉकडाउन के बीच  वायरस से संबंधित अफवाह   अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ113 मामले दर्ज किए हैं। साइबर विभाग के विशेष पुलिस महानिरीक्षक ने लोगों से कोरोना वायरस को लेकर अफवाह या बेबुनियाद बातें न फैलाने की अपील की है। विभाग के अनुसार, गृहमंत्री अनिल देशमुख के निर्देश पर सोशल मीडिया के जरिए अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।इनमें टिकटॉक, फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम मुख्य हैं। साइबर विभाग के पुलिस अधीक्षक बालसिंग राजपूत ने कहा कि व्हाट्सएप या अन्य सोशल मीडिया के प्लेटफार्म पर किसी भी प्रकार से कोरोना वायरस को लेकर धार्मिक रंग या जातीय रंग देकर मेसेज या विडियो कतई पोस्ट न करें। इस तरह के मेसेज पोस्ट करने से लोगों को रोकें, क्योंकि इससे समाज में शान्ति भंग होने की आशंका बनी रहती है।



ऐसा होने पर संबंधित ग्रुप के एडिमन के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा। अनर्गल और अफवाह युक्त पोस्ट पर नकेल कसने के लिए एडमिन अपने वाट्सएप ग्रुप के सेटिंग में जाकर 'only for admin' ऑप्शन को सिलेक्ट कर उसे एक्टिवेट कर दें। इस प्रकार के अनर्गल मेसेज या विडियो मिलने पर संबंधित व्यक्ति www.cybercrime.gov.in पर जाकर शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं।

मुंबई में 9 और नवी मुंबई में एक मामला दर्ज
साइबर विभाग के अनुसार, महाराष्ट्र राज्य में विभिन्न पुलिस स्टेशनों में 6 अप्रैल तक कुल 113 मामले दर्ज किए गए हैं। जिनमें बीड 15, पुणे ग्रामीण 11, मुंबई 9, सातारा 7, जलगाव 7, नासिक ग्रामीण 6, नागपुर शहर 4, नासिक शहर 4, ठाणे शहर 4, नांदेड 4, गोंदिया 3, भंडारा 3, रत्नागिरी 3, जालना 3, परभणी 2, अमरावती 2, नंदुरबार 2, लातूर 1 और नवी मुंबई से एक मामला शामिल है।